जुलाई माह तक सड़क सुरक्षा के अभियोग में 1831 हुए चालान

Advertisement

चमोली : जिलाधिकारी हिमांशु खुराना की अध्यक्षता में सड़क सुरक्षा समिति की मासिक बैठक हुई। जिसमें सड़क सुरक्षा से संबधित सभी बिन्दुओं पर समीक्षा की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने सुरक्षित यातायात एवं सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि जहां पर भी सड़क दुर्घटनाएं हुई है वहां पर संयुक्त निरीक्षण रिपोर्ट के आधार पर सुरक्षा के सभी इंतेजाम सुनिश्चित करें और फोटोग्राफ सहित अनुपालन आख्या उपलब्ध करें। दुर्घटनाओं की मजिस्ट्रीयल जांच समय पर पूरी की जाए। ब्लैक स्पॉट और नए दुर्घटना संभावित क्षेत्रों में सड़क सुधारीकरण के लिए आंगणन तैयार करते हुए शासन को भेजे। राष्ट्रीय राजमार्ग एवं संपर्क मार्गो पर दुर्घटना संभावित स्थानों में पैराफीट, क्रैशबैरियर, डेलमिनेटर, चेतावनी साइनबोर्ड लगाने तथा सडकों पर गढढों को ठीक किया जाए। सड़क किनारे दुर्घटनाओं को न्यौता दे रही होर्डिग्स को हटाने के लिए सड़क से जुड़े सभी विभाग रेग्यूलर अभियान चलाए। एसडीएम, पुलिस और परिवहन विभाग सड़कों पर नियमित चैकिंग करते हुए यातायात नियमों का पालन कराना सुनिश्चित करें। ओवरलोडिंग, ओवरस्पीड, मालवाहक वाहनों से सवारी ढोने वाले वाहनों का चालन किया कर सख्त कार्रवाई की जाए। सड़क से जुड़े विभाग अपनी सड़कों पर से स्वयं अतिक्रमण हटाए। अतिक्रमण हटाने में कोई परेशानी आ रही हो तो संबधित एसडीएम से संपर्क करें।
सहायक सभागीय परिवहन अधिकारी ज्योति शंकर ने बताया कि सड़क सुरक्षा के अभियोग में विगत वर्ष 807 चालन कर 27.09 लाख जुर्माना वसूला गया था। इस वर्ष जुलाई तक 1831 चालान हो चुके है और 53.73 लाख का जुर्माना वसूला गया है। बैठक में डीएफओ सर्वेश कुमार दुबे, अपर जिलाधिकारी अभिषेक त्रिपाठी, अधीक्षण अभियंता राजेश शर्मा सहित सभी एसडीएम लोनिवि, बीआरओ, पुलिस एवं अन्य सड़क निर्माणदायी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.