चारधाम यात्रा 2023: इस दिन तक सरकार ने रजिस्ट्रेशन पर लगाई रोक, जानें कारण

Advertisement

देहरादून: देवभूमि में चल रही चारधाम यात्रा में पहुंची श्रद्धालुओं की भीड़ ने सरकार और प्रशासन की चिंताएं बढ़ा दी है. क्षमता से अधिक लोगों के आने से हो रही अव्यवस्थाओं को देखते हुए सरकार ने अब इस पर बड़ा कदम उठाया है. सरकार ने तीन जून तक के लिए केदारनाथ के ऑनलाइन और ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन पर रोक लगा दी है. इससे पहले उत्तराखंड में खराब मौसम के चलते रजिस्ट्रेशन पर रोक लगाई गई थी.

जानकारी के अनुसार चारधाम यात्रा के लिए अब तक 38 लाख यात्री पंजीकरण करा चुके हैं. वहीं 17 लाख से ज्यादा यात्री दर्शन कर चुके हैं. 29 मई तक केदारनाथ धाम के लिए 13 लाख, बद्रीनाथ के लिए 11.21 लाख, यमुनोत्री में 6.24 लाख, गंगोत्री के लिए 6.79 लाख और सिक्खों के तीर्थस्थल हेमकुंड साहिब के लिए 74 हजार यात्रियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है.

चारधाम यात्रा प्रबंधन के अधिकारियों के मुताबिक, इस बार चारों धामों में तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ उमड़ रही है. केदारनाथ धाम में क्षमता से ज्यादा यात्री दर्शन करने के लिए पहुंच रहे हैं. साथ ही यात्रा मार्ग पर जगह-जगह जाम लगने से लोगों को कापी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि सरकार की तरफ से पहले की सभी प्रकार की व्यवस्थाएं की गई थीं. लेकिन, इसके बाद भी भीड़ के बढ़ने से स्थिती बेकाबू होती नजर आ रही है.

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.