स्वास्थ्य सचिव डॉ आर राजेश कुमार ने लिया स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा, अधिकारियों को दिए गए निर्देश

Advertisement

हल्द्वानी: शहर की स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार को लेकर धामी सरकार अलर्टमोड पर आ गई है. इस कड़ी में शुक्रवार को स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर. राजेश कुमार ने सुशीला तिवारी चिकित्सालय, मेडिकल कॉलेज और महिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान आर राजेश कुमार ने चिकित्सा अधिकारियों को मनोयोग से कार्य करने के निर्देश दिए. इस दौरान उन्होंने कहा कि आम जनमानस को सुचारू चिकित्सा उपचार मिल सके यही हमारी प्राथमिकता है. जिन चिकित्सालयों में स्पेशलिस्ट डाक्टरों की कमी होगी उनमें जल्द ही तैनाती की जाएगी.

स्वास्थ्य सचिव कुमार ने मेडिकल कालेज के ऑडिटोरियम के निरीक्षण के दौरान पाया कि कोविड-19 के दौरान डीआरडीओ द्वारा अस्थाई चिकित्सालय स्थापित किया गया था. उक्त चिकित्सालय के बैड, वैटिंलेटर, मल्टीपैरा मशीन आदि आडिटोरियम में पाए गए. उन्होंने मौके पर स्वास्थ्य से सम्बन्धित उपकरणों की शीघ्र से सूची बनाकर बेस चिकित्सालय पिथौरागढ, मेडिकल कालेज अल्मोडा को भेजने के निर्देश दिए.

अधिकारियों को दिए गए ये निर्देश

इसके साथ ही उन्होंने प्राचार्य मेडिकल कालेज हल्द्वानी को निर्देशित किया कि वे आपसी समन्वय बनाकर इस कार्य को पूर्ण करें. उन्होंने प्राचार्य को निर्देश दिए कि चिकित्सालय के लिए किसी भी प्रकार के उपकरण की आवश्यकता हो तो शीघ्र जनहित हेतु उसकी पूर्ति की जाएगी. उन्होंने कहा इस हेतु धन की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी. उन्होने प्राचार्य से कहा कि चिकित्सालय से सम्बन्धित जो भी कार्य हों उन कार्यो को जिलाधिकारी के संज्ञान में लाना जरूरी है.

सचिव कुमार ने कहा कि कैंसर हास्पिटल परिसर में बनने वाले नवनिर्माण भवन की जद में आ रहे पेड की अनुमति एवं आपत्ति का शीघ्र निराकरण हेतु वन विभाग से कार्रवाई की जाएगी जिससे निर्माण कार्यों को समय से प्रारम्भ किया जाएगा. उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा इस हेतु 160 चिकित्सालय के स्टाप की स्वीकृति भी प्रदान कर दी गई है.

कुमार द्वारा कैंसर चिकित्सालय के ओपीडी, के साथ ही सुशीला तिवारी चिकित्सालय मेे काॅडियोलाॅजी, जनरल वार्ड, आईसीयू, ओपीडी, डायलेशिस के साथ ही भर्ती मरीजों से बात भी की गई. इसके साथ ही उन्होंने उनके स्वास्थ्य का हालचाल भी जाना. उनके द्वारा अटल आयुष्मान कार्ड काउन्टर का भी निरीक्षण किया गया. इसके पश्चात सचिव द्वारा महिला चिकित्सालय का भी निरीक्षण किया गया.

निरीक्षण दौरान प्राचार्य डॉ. अरूण जोशी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. भागीरथी जोशी, प्राचार्य पिथौरागढ डॉ. अरविन्द, संयुक्त निदेशक डॉ. महेन्द्र कुमार, डॉ. एमके पंत, जनसम्पर्क अधिकारी आलोक उप्रेती के साथ ही स्वास्थ्य महकमे के अधिकारी भी उपस्थित थे.

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.