बड़ी खबर: उत्तराखंड के ब्रांड एंबेसडर बने पद्मश्री प्रसून जोशी, मिलेगा राज्य की संस्कृति को प्रोत्साहन

Advertisement

देहरादून: धामी सरकार ने विश्व प्रख्यात कवि, लेखक, गीतकार और केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष पद्मश्री प्रसून जोशी को उत्तराखंड का ब्रांड एंबेसडर बनाया है. इस संबंध में सचिव संस्कृति एवं धर्मस्व हरिचंद्र सेमवाल की ओर से आदेश जारी किए गए हैं. प्रसून जोशी के संग बहुत जल्द समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर होंगे.

आपको बता दें की उत्तराखंड सांस्कृति विरासत को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार ने प्रद्मश्री प्रसून जोशी को ब्रांड एंबेसडर बनाया है. यह प्रस्ताव हाल ही मे शासन को भेजा गया था. शुक्रवार को सचिव संस्कृति ने इस बारे में आदेश जारी किए. उन्होंने महानिदेशक संस्कृति को भेजे पत्र में निर्देश दिए हैं कि गीतकार जोशी के संग जल्द ही समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर शासन को अवगत कराया जाए.

पत्र के मुताबिक जोशी के राज्य के ब्रांड एंबेसडर बन जाने पर सरकार की ओर से उनकी जो भी सेवाएं ली जाएंगी और उसमें जो वित्तीय देयता होगी, उसमें पृथक से निर्णय लिया जाएगा.

17 की उम्र में लिखी पहली बुक

प्रसून जोशी का जन्म 16 सितंबर 1971 को अल्मोड़ा नगर के मोहल्ला स्यूनराकोट में हुआ था. उनका परिवार मूल रूप से अल्मोड़ा के दन्यां से है. उनके पिता डीके जोशी पीसीएस ऑफिसर थे. वहीं उनकी मां सुषमा जोशी लोकगायिका के रूप में पहचानी जाती थी. उनकी मां की वजह से उन्हें बचपन से ही संगीत और साहित्य का ज्ञान विरासत में मिला है. जब उन्होंने अपनी पहली बुक लिखी तब वे महज 17 वर्ष के ही थे. उस बुक का नाम उन्होंने मैं और वो रखा. उन्हें उत्तराखंड सरकार की ओर से राज्य स्थापना दिवस यानी 9 नवंबर को उत्तराखंड गौरव पुरस्कार से नवाजा गया था.

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.