सीनियर की हत्या करने के इरादे से तमंचा लेकर स्कूल पहुंचा 10वीं का छात्र, जानें कैसे बची जान

Advertisement

हरिद्वार: सिडकुल थाना क्षेत्र के एक स्कूल में सीनियर जूनियर का विवाद सामने आया है. जहां एक 10वीं कक्षा का छात्र 12वीं कक्षा के एक छात्र को जान से मारने के इरादे से तमंचा लेकर स्कूल जा पहुंचा. दोनों छात्रों के बीच कुछ दिनों पहले ही झगड़ा हुआ था.

यह पूरी घटना रोशनाबाद क्षेत्र स्थित नवोदय विद्यालय की है. जहां खेलने-खाने की उम्र में कक्षा 10वीं में पढ़ने वाला एक छात्र दुश्मनी के चक्कर में हत्यारा बन सकता था, लेकिन उसके साथ पढ़ने वाले दूसरे बच्चों की समझदारी ने उसे हत्यारा बनने से बाल-बाल बचा लिया.

जानें क्या था पूरा मामला

दरअसल यह पूरा मामला सिडकुल थाना क्षेत्र का है. वहां से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक स्कूल में पढ़ने वाले 10वीं के छात्र को 12वीं में पढ़ने वाले एक छात्र ने दो दिन पहले पीट दिया था. इसके बाद यह पूरा मामला स्कूल प्रबंधन के पास जा पहुंचा, जिसके बाद उन्होंने दोनों के बीच निपटारा करवा दिया था. लेकिन, 10वीं में पढ़ने वाला छात्र अपने साथ हुई मारपीट को भुला नहीं पाया था. बदला लेने के इरादे से वह 12वीं के छात्र को तमंचा लेकर स्कूल जा पहुंचा.

10वीं के छात्र के हाथ में लोडेड तमंचा देखकर बाकी छात्र डर गए और उन्होंने इसकी जानकारी शिक्षकों को दी. जिसके बाद उसे पकड़ लिया गया और उसके पास से तमंचा बरामद कर लिया गया.

10वीं के छात्र से पूछताछ करने पर यह बात सामने आई की वह 12वीं के छात्र पर इतना गुस्सा था कि वह उसकी हत्या करने वाला था. इस पूरे मामले के खिलाफ सिडकुल थाने में केस दर्ज कर लिया गया है.

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.