हत्याकांड का खुलासा: मां समेत तीन बेटों ने की थी युवक की हत्या, जानें कैसे की गई थी मर्डर की पूरी प्लानिंग

Advertisement

रुड़की: शहर के भगवानपुर थाना क्षेत्र की चांद कॉलोनी में हुए नितिन हत्याकांड की गुत्थी भगवनपुर पुलिस ने सुलझा दी है. रूड़की सिविल लाइन कोतवाली में इस केस का खुलासा करते हुए हरिद्वार एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि रुपयों के लेनदेन को लेकर नितिन की हत्या की गई है. इस मामले में पुलिस ने महिला समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें एक नाबालिग भी शामिल है.

जानें क्या था पूरा मामला

यह पूरा मामला भगवानपुर में पौड़ी गढ़वाल का है. जहां एक युवक की हत्या कर उसका शव अनाज की टंकी में छिपा दिया गया था. पुलिस ने केवल 48 घंटों में इस केस का पर्दाफाश कर आरोपियों को धर दबोचा है. पुलिस को केस की छानबीन में पता चला है कि एक नाबालिग सहित तीन भाइयों और उनकी मां ने मिलकर उधार के पैसे मांगने के विवाद में नितिन की हत्या की थी. पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर नकदी भी बरामद कर ली है.

हरिद्वार एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि भगवानपुर थाने से कुछ ही दूरी पर चांद कॉलोनी में तीन मंजिला मकान को सिकंदर नामक एक व्यक्ति ने किराए पर दिया हुआ था. इस बिल्डिंग में सभी आस-पास के फैक्ट्री में काम करने वाले कर्मचारी रहते थे. दो दिन पहले सिकंदर रात के समय बिल्डिंग में पहुंचा तो अनाज की टंकी से खून निकलता देखा. टंकी खोलने पर उसके अंदर से एक किराएदार अंकित निवासी ग्राम चौडिख थाना पौड़ी चौकी पाबौ तहसील पौड़ी जनपद पौड़ी गढ़वाल का शव मिला था.

इसकी जानकारी मिलने के बाद सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगालने के साथ ही पुलिस ने मुखबिर तंत्र को अलर्ट किया. इसके साथ ही एसओजी ने सर्विलांस का सहारा लिया. इलेक्ट्रॉनिक सर्विलेंस के आधार पर मिले संदिग्ध मोबाइल नंबरों की कुंडली खंगालने के बाद एक पुलिस टीम को तुरन्त बुलन्दशहर के लिए रवाना किया गया. इसके बाद पता चला कि आरोपी घटना को अंजाम देने के पश्चात जयपुर ग्रेटर नोयडा, बुलन्द शहर, गाजियाबाद अलग-अलग शहरो में ठहरे हुए हैं.

शव छिपाने के लिए खरीदी गई थी अनाज की टंकी

इसी के साथ यह भी पता चला कि शव छिपाने के लिए रात में ही भगवानपुर कस्बे से अनाज की बड़ी टंकी खरीदी गई थी. 29 नवंबर को ही किराये का मकान खाली करके अपना सामान महिन्द्रा पिकअप से लेकर बुलन्द शहर चले गये थे. चालक ने पुलिस को बताया कि मेरी महिन्द्रा पीकअप दो लड़को ने अपना घर का सामान बुलन्द शहर ले जाने के लिए बुक करायी थी जो कि बुलट मोटर साईकिल पर आये थे. पुलिस ने गुलशन बेगम पत्नी जफर, व उसके नाबालिग बेटे को बुलन्दशहर, उत्तर-प्रदेश से पकड़ा. इनकी निशांदेही पर अंकित का गैस स्लेण्डर व फ्रीज व घटना में इस्तेमाल बुलट मोटर साईकिल भी बरामद की गयी.

नकदी समेत दोनों भाई गिरफ्तार

वहीं दूसरी पुलिस टीम ने आजाद पुत्र जफर, नौशाद पुत्र जफर निवासीगण धमेडा अड्डा वार्ड न0 32 थाना कोतवाली नगर बुलन्दशहर उ.प्र. को उनके किराये के कमरे कस्बा हल्दौनी, दादरी ग्रेटर नोयड़ा उ.प्र. से दबोचा गया, जिनसे अंकित से लिए गये एक लाख दस हजार रूपये नगद व मृतक का अन्य सामान बरामद किया गया।

प्लाट दिलाने के नाम पर हड़पी थी रकम

आरोपियों से संयुक्त रूप से पूछताछ करने पर बताया कि हम दोनों सगे भाई है, हमने अपनी माँ गुलशन बेगम और छोटे भाई (नाबालिग) के साथ मिलकर कुछ दिन पहले पैसे वापस न लौटाने के चक्कर में भगवानपुर में अंकित भण्डारी की हत्या कर दी थी. उसके शव को हम चारों ने मिलकर टीन के अनाज की टंकी में छिपाकर कंबलो से ढककर छिपा दिया था. इसके बाद हम कमरे का ताला लगाकर भाग आये थे. हम अंकित भण्डारी को भगवानपुर में एक प्लॉट दिलवा रहे थे, जिसके लिए हमने अंकित भण्डारी से डेढ लाख रूपये नगद व लगभग एक लाख बीस हजार रूपये अपने खाते में लिए थे. वह अपने पैसे वापस मांग रहा था इसलिए हमने अंकित भण्डारी की मिलकर हत्या कर दी.

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.